IAS|UPSC Syllabus in Hindi

जैसा कि आप सब जानते हैं IAS  बनने  के लिए संघ लोक सेवा आयोग (UPSC)  द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षा  बहुत कठिन होती है और किसी भी परीक्षा को  पास करने के लिए कड़ी मेहनत, लगन, के साथ  सबसे महत्वपूर्ण है समय का सदुपयोग और समय के सदुपयोग के लिए से महत्वपूर्ण होता है उस परीक्षा के पाठ्यक्रम (SYLLABUS) के बारे में पूर्ण जानकारी होना।

UPSC EXAM के लिए पाठ्यक्रम (SYLLABUS) को जानना अनिवार्य क्यों है?

परीक्षा देने के लिए  पाठ्यक्रम (SYLLABUS) के बारे में पूर्ण जानकारी होना इसलिए अनिवार्य है ताकि आपको पता चल सके की परीक्षा में किस- किस विषय से प्रश्न पूछे जाएंगे  ताकि आप अपना  पूर्ण समय उन्हीं विषयों की तैयारी में लगा सके और अपने समय का सदुपयोग कर सकें।

हमारा लक्ष्य है आपको IAS EXAM SYLLABUS के बारे में  पूर्ण जानकारी देना ताकि आप अपने IAS बनने के सपने को  सच कर सके। यदि आपके IAS बनने के सफर में हमारा यह प्रयास काम आता है तो हमको अत्यंत प्रसन्नता होगी  आपसे निवेदन है कि नीचे दिए गए IAS EXAM  पाठ्यक्रम (SYLLABUS ) को ध्यान पूर्वक पढ़ें धन्यवाद:

संघ लोक सेवा आयोग द्वारा IAS EXAM का विभाजन 3  चरणों में किया गया है

  • UPSC Prelims Exam
  • UPSC Main Exam
  • UPSC Personality Test

UPSC प्रारंभिक परीक्षा पाठ्यक्रमIAS | UPSC Prelims Exam Syllabus

संघ लोक सेवा आयोग(UPSC)  द्वारा आयोजित की जाने वाली  प्रारंभिक परीक्षा(Prelims Exam) के लिए वर्तमान समय में दो Paper होते हैं Paper-1 सामान्य अध्ययन (General Studies) , Paper-2 सिविल सेवा अभिवृत्ति परीक्षा ( Civil Service Aptitude Test) जिसे CSAT भी कहा जाता है।

S.No.PaperNo. QuesMarks Negative
Marking
1सामान्य अध्ययन (General Studies)1002001/3
2सिविल सेवा अभिवृत्ति परीक्षा( Civil Service Aptitude Test)802001/3

महत्वपूर्ण जानकारी | Important Information

  • सामान्य अध्ययन (General Studies) paper-1 200 अंकों का होता है जिसमें  2-2 अंकों के 100  प्रश्न  पूछे जाते हैं।
  • सिविल सेवा अभिवृत्ति परीक्षा( Civil Service Aptitude Test) Paper-2  भी 200 अंकों का होता है जिसमें 2.5-2.5 अंकों के 80  प्रश्न पूछे जाते हैं।
  • दोनों यानी Paper-1  और Paper-2  मैं Negative Marking होती है जिसमें 3 गलत  उत्तरों के स्थान पर एक सही उत्तर के समान Number  काटे जाते हैं जबकि CSAT मैं  निर्णयन क्षमता से संबंधित प्रश्नों में गलत उत्तर के लिए Nagetive Marking नहीं होती ।
  • वर्तमान समय में CSAT  को केवल Qualifying Paper कर दिया गया है जिसमें पास होने के लिए केवल 33%  अंक लाने होते हैं Cut-off Marks का निर्धारण केवल Paper-1 यानी सामान्य अध्ययन (General Studies) के आधार पर किया जाता है ।
  • प्रारंभिक परीक्षा (Prelims Exam)  में Objective Type  के प्रश्न पूछे जाते हैं जिसमें 4 Option (A,B,C और D) होते हैं , इन 4 Option  मेरे से  एक सही Option चयन करना होता है।

सामान्य अध्ययन (General Studies) Paper-1 Syllabus

S.No.Topics of Paper-1
1 राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की सामयिक घटनाएँ।
(Current events of national and international importance)
2भारत का इतिहास और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन ।
(History of India and Indian National Movement)
3भारत एवं विश्व का भूगोल : भारत एवं विश्व का प्राकृतिक, सामाजिक, आर्थिक भूगोल ।
(Indian and World Geography – Physical, Social, Economic Geography of India and the World)
4भारतीय राज्यतंत्र और शासन- संविधान, राजनीतिक प्रणाली, पंचायती राज, लोकनीति, अधिकारों संबंधी मुद्दे इत्यादि ।
(Indian Polity and Governance – Constitution, Political System, Panchayati Raj, Public Policy, Rights Issues etc)
5आर्थिक और सामाजिक विकास- सतत् विकास, गरीबी, समावेशन, जनसांख्यिकी, सामाजिक क्षेत्र में    की गई पहल आदि।
(Economic and Social Development, Sustainable Development-Poverty, Inclusion, Demographics, Social Sector initiatives etc)
6पर्यावरणीय पारिस्थितिकी, जैव-विविधता और जलवायु परिवर्तन संबंधी सामान्य मुद्दे, जिनके लिये विषयगत विशेषज्ञता आवश्यक नहीं है।
(General issues on Environmental Ecology, Biodiversity and Climate Change – that do not require subject specialization)
7सामान्य विज्ञान ।
(General Science)

सिविल सेवा अभिवृत्ति परीक्षा – Civil Service Aptitude Test Paper-2 Syllabus

S.No.Topics of Paper-1
1 बोधगम्यता 
(Comprehension)
2संचार कौशल सहित अंतर-वैयक्तिक कौशल 
(Interpersonal skills including communication skills)
3तार्किक कौशल एवं विश्लेषणात्मक क्षमता
(Logical reasoning and analytical ability)
4निर्णय लेना और समस्या समाधान।
(Decision-making and problem-solving)
5सामान्य मानसिक योग्यता।
(General mental ability)
6आधार भूत संख्ययन – संख्याएँ और उनके संबंध, विस्तार-क्रम आदि) (दसवीं कक्षा का स्तर); आँकड़ों का निर्वचन (चार्ज, ग्राफ, तालिका, आँकड़ों की पर्याप्तता आदि- दसवीं कक्षा का स्तर।
Basic numeracy (numbers and their relations, orders of magnitude, etc.) (Class X level), Data interpretation (charts, graphs, tables, data sufficiency etc. (Class X level)
7सामान्य विज्ञान ।
(General Science)

IAS | UPSC मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रमIAS | UPSC Main Exam Syllabus

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की प्रारंभिक परीक्षा (Prelims Exam) पास करने के पश्चात चुने गए अभ्यर्थियों के लिए मुख्य परीक्षा का आयोजन किया जाता है आइए अब हम जानते हैं मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम (Main Exam Syllabus)

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC)  की  मुख्य परीक्षा (Main Exam)  में विषयों का निर्धारण दो प्रकार से किया गया है अनिवार्य (Compulsary) और वैकल्पिक (Optional) विषय  जिसमें कुल 9 Paper  होते हैं जो कुल 1750 Marks  के  होते हैं ।

जो अभ्यर्थी मुख्य परीक्षा में उत्तीर्ण होते हैं उनको  व्यक्तित्व  परीक्षण (Personality Test) के लिए बुलाया जाता है, जिसके लिए 275 अंक निर्धारित किए गए हैं ।

मुख्य परीक्षा पाठ्यक्रम की  विस्तृत जानकारी इस प्रकार है

प्रश्न पत्र (Paper)विषय (Subject)अंक (Marks)
प्रश्न पत्र-1
(Paper-1)
निबंध250
प्रश्न पत्र-2
(Paper-2)
सामान्य अध्ययन-1: (भारतीय विरासत और संस्कृति, विश्व का इतिहास एवं भूगोल तथा समाज)250
प्रश्न पत्र-3
(Paper-3)
सामान्य अध्ययन-2: (शासन व्यवस्था, संविधान, राज व्यवस्था, सामाजिक न्याय तथा अंतर्राष्ट्रीय संबंध)250
प्रश्न पत्र-4
(Paper-4)
सामान्य अध्ययन-3: (प्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव-विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा तथा आपदा- प्रबंधन)250
प्रश्न पत्र-5
(Paper-5)
सामान्य अध्ययन-4: (नीति शास्त्र, सत्य निष्ठा और अभिवृत्ति)250
प्रश्न पत्र-6
(Paper-6)
वैकल्पिक विषय- प्रश्न पत्र-1250
प्रश्न पत्र-7
(Paper-7)
वैकल्पिक विषय- प्रश्नपत्र-2250
प्रश्न पत्र-8
(Paper-8)
क्वालीफाइंग-1  अंग्रेज़ी भाषा300
प्रश्न पत्र-9
(Paper-9)
क्वालिफाइंग-2 हिंदी या संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल कोई भाषा300
SUB TOTAL1750
PERSONALITY TEST MARKS275
TOTAL MARKS2025

महत्वपूर्ण जानकारी | Important Information

  • दोनों Qualifying Papers के Marks को योग्यता निर्धारण के लिए नहीं जोड़ा जाता है।
  • दोनों Qualifying Paper  300-300 Marks  के होते है। भारतीय भाषा में Minimum Qualifying Marks 25% (75) तथा  अंग्रेजी भाषा में  भी Minimum Qualifying Marks 25% (75) निर्धारित किए गए हैं।
  • IAS Main Exam के प्रश्न पत्र अंग्रेजी और हिंदी दोनों भाषाओं में साथ-साथ प्रकाशित किए जाते हैं।
  • IAS Main Exam  में उम्मीदवारों को भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची मैं शामिल 22  भाषाओं में से किसी में भी उत्तर देने की   छूट प्रदान की गई है।
  • उम्मीदवार सिविल सेवा परीक्षा के Form में Main Exam  के लिए जिस भाषा को अपने माध्यम के तौर पर अंकित करते हैं, उन्हें Main Exam के सभी प्रश्न पत्रों के उत्तर उसी भाषा में लिखने होते हैं। केवल साहित्य के विषयों में यह छूट है कि उम्मीदवार उसी भाषा की लिपि में उत्तर लिखता है, चाहे उसका माध्यम वह भाषा न हो।

आइए अब जानते हैं प्रारंभिक परीक्षा के Paper-1  और Paper-2  मैं किन-किन विषयों पर प्रश्न पूछे जाते हैं।

उदाहरण | Example

अंग्रेज़ी (English) माध्यम का उम्मीदवार अगर वैकल्पिक विषय के रूप में हिंदी साहित्य का चयन करता है तो उसके उत्तर वह देवनागरी लिपि में लिखेगा। शेष मामलों में, इसकी अनुमति नहीं है कि उम्मीदवार अलग-अलग प्रश्न पत्रों के उत्तर अलग-अलग भाषाओं में दे।

अभ्यार्थियों से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न :

क्या PSC  और UPSC SYLLABUS SAME होता है?

नहीं PSC  और UPSC SYLLABUS  बिल्कुल  SAME  नहीं होता ।

जिस प्रकार UPSC  केंद्र सरकार की एक संस्था है जो  केंद्र सरकार के लिए विभिन्न राजपत्रित अधिकारियों  की नियुक्ति परीक्षा का आयोजन करती है   जिन की सेवाएं राज्य सरकारों को भी दी जाती हैं।उसी प्रकार प्रत्येक राज्य  की  भी एक पब्लिक सर्विस कमीशन (PSC)  संस्था होती है जो राज्यों के लिए राजपत्रित अधिकारियों की नियुक्ति  के लिए परीक्षा  का आयोजन करती है

यह संस्था प्रत्येक राज्य के नाम से जानी जाती है जैसे :-  UTTAR PRADESH  के लिए(UPPSC) HARYANA  के लिए HPSC , MAHARASTRA  के लिए (MPSC) MADHYA PRA DESH के लिए (MPPSC) ETC.

किंतु UPSC  का EXAM LEVAL  और SYLLABUS STATE PSC के मुकाबले  डिफरेंट और मुश्किल होता है । लेकिन काफी हद तक मिलता-जुलता भी होता है यूपीएससी की तैयारी करने वाला   अभ्यार्थी किसी भी STATE PSC  का EXAM  आसानी से दे सकता है  किंतु STATE PSC की तैयारी करने  वाले विद्यार्थियों के लिए UPSC  आसान नहीं है।

क्या UPSC Hindi Medium के छात्रों और UPSC English Medium के छात्रों का Syllabus अलग-अलग होता है?

UPSC HINDI MEDIUM SYLLABUS और ENGLISH MEDIUM SYLLABUS   मैं  कोई DIFFRENCE  नहीं है केवल भाषा का DIFFRENCE  है

HINDI MEDIUM  वाले अभ्यार्थी  अपना EXAM  हिंदी भाषा में  देते हैं केवल ENGLISH LANGUAGE PAPER को छोड़कर और ENGLISH MEDIUM  वाले अभ्यर्थी अपना EXAM ENGLISH LANGUAGE मैं देते हैं केवल  हिंदी  भाषा PAPER  को छोड़कर  किंतु दोनों का SYLLABUS  बिल्कुल SAME  होता  है। 

क्या UPSC का Syllabus State wise अलग-अलग होता है?

UPSC EXAM  एक सेंट्रल लेवल का EXAM  होता है जिसके अंतर्गत INDIA के सभी STATE के  लोग भाग लेते हैं  किंतु इसका SYLLABUS प्रत्येक अभ्यर्थी के लिए SAME होता है इसमें कोई DIFFRENCE  नहीं होता चाहे EXAM  देने वाला अभ्यार्थी किसी भी STATE से BELONG करता हो या किसी भी भाषा को जानने वाला  हो।

1 thought on “IAS|UPSC Syllabus in Hindi”

Leave a comment